Uncategorized

My New Website

Please visit My website for my new blog's http://www.smritisnehablogs.com And like & share it.   Thank You 🙂

Advertisements
Thoughts and poetry writing

‘धुएँ का गुबार’  

"धुएँ के धुंध और गुबार में तड़प रही है दिल्ली,  लोगों को रूलाकर,  खुद भी सिसक रही है दिल्ली,  मानो ना मानो ये तो बस आगाज है,  ना जाने और कितने नासूर लिए बिलख रही है दिल्ली,  धुएँ और धुंध के गुबार में तड़प रही है दिल्ली !!"